19 September, 2016

फेसबुकिया पोस्ट

इस सप्ताह हमारे साथ ब्लॉगर प्रभात कुमार जी हमारे साथ जुड़े है। जो फरवरी 2012 से ब्लॉग ‘अपनी मंजिल और आपकी तलाश’ को संचालित कर रहे है और अपने ब्लॉग लेखन में अब डबल सेन्चुरी की ओर अग्रसर है। प्रभात जी उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से है और दिल्ली युनिवर्सिटी से रिसर्च फेलो है। हम प्रभात कुमार जी का उनके ब्लॉग की ताजा पोस्ट के साथ आई ब्लॉगर में स्वागत करते है। 


आप कितने उदार है। ज्ञान देते है, और हम लोग बड़े प्रेम से दो डब्बे बने बनाये स्माईल के डाल देते है। यकीं नहीं होता मैंने अपने जीवन में इतनी सुंदरता से अभी हंसा होऊंगा। लेकिन बात क्या है न यहाँ का समाज तो कितना अच्छी तरह से बनता और बिगड़ता है, बनता है तो दूषित कहलाता है और बिगड़ता है तो प्रदूषित।
अरे भाई ई बात है न हम ठहरे बहुत सीरियस जिसे आप कभी कभार इंनोंसेन्ट केहि देत थिंन। और आप जब वह पर कोनों कमेंट पास करत जात थिंन तो हम बहुत देर बाद सोंच समझि के पूरा अपने ज्ञान के भण्डार में जाइके एक टिप्पणी उह पर कई देत थेंन। अऊर आप के बाते अलग है आप न ठहरे यूरोप और वहां से अमेरिका गए गोरी प्रजाति के लोगन यही नाते बड़ई जल्दी उह पर जुकरबर्ग कै हंसी वाला घोड़वा हम पै छोड़ देत थिंन। काहे भाई हमरे मान सम्मान इतने प्यार वाला।
नहीं जी आप न सच में बहुत अच्छी तरह जीना जानते है। हमारे यहाँ बात बात को शपथ पत्र मान लिया जाता है और आपके यहाँ हर बात को हसगुल्ला। आपको अगर कोई लड़का पसंद कर ले तो आप उसके प्यार को नकारती नहीं और न ही कभी हम जैसे समाज की तरह चप्पल बरसाती है। आपसे मैंने नमस्ते कर लिया तो आप हाई बोल कर 2 शब्द प्रेम से हाउ आर यू पूछ लेती है । हम जैसे लड़के व्हाट्स एप पर आपको इतना सजा के जवाब देते है कि आप जरा सा भी सीरियस नहीं होते और दूसरे दिन एक उत्तर में "हम्म" बरस जाता है और हालात यह होती है आपकी प्रतीक्षा में हमारा वह रात एक गाना की तरह "न जाने कितने दिनों बाद ......."; सोंचते और मुस्कराते चला जाता है।
आपका समाज कितना अच्छा है न आप को फ़िक्र ही नहीं। कुछ नहीं तो जब हम आपकी बातों पर मुस्कुरा रहे होते है तो आप मेरी मुस्कराहट पर हंस रहे होते है और कह देते है अरे क्या हुआ।

<<< पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें >>>



प्रभात कुमार जी सामाजिक, देशभक्ति, गांवो की सुन्दरता एवं प्रकृति और शिक्षा के साथ ही नारी सशक्तिकरण पर भी अपने लेख लिखते है। इसके अलावा वो अपने जीवन के खट्टे-मीठे अनुभवों को भी पाठको के साथ साझा करते है। आपसे ई-मेल prabhat.prbhakar@gmail.com पर संपर्क कर सकते है और फेसबुक पर भी जुड़ सकते है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...