26 November, 2016

2016 - एक आकलन (अभिव्यक्ति ब्लॉग)


सन् 2016 अब समाप्ति के कगार पर है। वर्ष का अंतिम महीना बस शुरु होने ही वाला है। नये वर्ष के आगमन की प्रतीक्षा है।
चलिए आज आकलन करते हैं, पिछले ग्यारह महीनों में, क्या खोया क्या पाया ?
अब जरा पीछे की ओर नजर दौडाते हैं...
जनवरी 2016 ..नववर्ष की शुभकामनाएँ, पार्टी, खेल ...वाह! कितना मजा आया था न।
पर क्या हमें वो वादे याद हैं, जो हमनें स्वयं से किये थे। जिन पर हमने ईमानदारी से चलने की कसम ली थी, हाँ याद है न मैंने तो सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करने की कसम ली थी और मैंने...
पर समय कहाँ मिल पाता है रोज -रोज...
साल के पहले दिन हम सभी जोश ही जोश में कुछ नया करने, जीवन में बहुत कुछ पाने के और भी न जाने क्या क्या वादे स्वयं से कर लेते हैं और फिर जुट भी जाते हैं, उन्हें पूरा करने में पूरे जोश के साथ।
फिर धीरे -धीरे जैसे-जैसे समय गुजरता जाता है सब ठप्प..। कुछ ही लोग होते हैं जो अंत तक जुटे रहते हैं और सफल भी होते हैं...



शुभा मेहता सितम्बर 2013 से ब्लॉगिंग कर रही है और बचपन से ही पढ़ने की शौकीन है। उनके प्रोफाइल के अनुसार शुभा जी कहती है कि मैं अपने जीवन की छोटी छोटी अनुभूतियों को कविताओं और लेखों में पिरोने की कोशिश करती हूँ।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...