13 February, 2017

वैलेंटाइन डे मनाने वाले और विरोध करनेवाले दोनों ही सच्चाई से अनजान | आपकी सहेली


14 फरवरी को ‘वैलेंटाइन डे’ कई देशों में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। भारत में भी इसे एक बड़े उत्सव के रुप में मनाया जा रहा है। आजकल सभी लोगों को वैलेंटाइन डे का इंतजार रहता है। प्यार करनेवाले हर दिल को भी, वैलेंटाइन डे का विरोध करनेवालों को भी और इस नीमित्त से अपनी दुकानदारी चलाने वालों को भी। प्यार करनेवाले इस दिन को अपने प्यार का इज़हार करने हेतु… विरोध करने वाले समाज में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने हेतु...और दुकानदार अपनी बिक्री बढ़ाने हेतु...सभी इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते है। हम भारतीय लोगों में कमाल का उत्सव प्रेम है। बारा महीने के इतने सारे त्योहार, विभिन्न महापुरुषों की जयंतियां और राष्ट्रीय पर्व हमें उत्सव मनाने के लिए कम लगते है, इसलिए हम नए उत्सव मनाने के लिए भी सदा तत्पर रहते है!! लेकिन वैलेंटाइन डे को मनानेवाले और विरोध करनेवाले दोनों ही सच्चाई से अनजान है...।

वैलेंटाइन डे का असली मतलब

लोगों को लगता है कि ऋषि वैलेंटाइन ने प्यार करनेवालों को हरी झंडी दिखाई थी...उन्हें प्यार करने की आज़ादी दी थी! वैलेंटाइन डे मानो प्यार करने की स्वतंत्रता एवं स्वच्छंदता का प्रतीक बन गया है। कॉलेज पढ़ने वाले लड़के-लड़कियाँ एक-दूसरे को वैलेंटाइन कार्ड दे रहे है जिस पर लिखा रहता है “Would you be my valentine” जिसका असली मतलब होता है “क्या आप मुझसे शादी करेंगे”। लेकिन इन लोगों को लगता है कि इसका मतलब है “क्या आप मुझसे प्यार करती/करते हो” इस तरह असली मतलब पता न होने से इन लोगों को तो लगता है कि वैलेंटाइन याने प्यार करने की आजादी! और आजादी पाने के लिए तो इंसान कूछ भी करने के लिए तैयार रहता है। इसलिए ही आज का युवावर्ग इसे जोरशोर से मना रहा है। कुछ लोगों को तो लगता है कि वैलेंटाइन याने 'प्यार'... फ़िर वो चाहे युवक-युवतियों का हो, भाई-बहन का हो या माँ-बेटे का हो! इसलिए वे यह कार्ड माँ-बाप, भाई-बहन, दादा-दादी सभी को देते है! अब आप ही बताइए, क्या आप अपने माँ-बाप, भाई-बहन, दादा-दादी को यह कहेंगे कि “क्या आप मुझसे शादी करेंगे??” सिर्फ़ ऐसा सोचकर ही इस नासमझी पर हंसी आती है। कितने भेडचाल के रुप में चलते है हम!! कोई वैलेंटाइन डे मना रहा है तो हमें भी मनाना है...बिना यह जाने कि यह क्यों मनाया जाता है!

<<< पूरी रचना पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें >>>



ज्योति देहलीवाल जी एक गृहणी है और महाराष्ट्र में निवारसरत है। आप 2014 से ब्लॉग लिख रही है। उनके ब्लॉग पर विभिन्न विषयों से संबधित रोचक जानकारियां और सामाजिक व घरेलू टिप्स आदि ढ़ेरो जानकारीवर्द्धक लेखो की काफी लम्बी श्रृखला है। ज्योति जी से ई-मेल jyotidehliwal708@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है और उन्हे Facebook पर फालो कर सकते है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...