25 July, 2017

यदि खुद 'खुश' रहना चाहते हैं...तो दूसरों को ‘क्षमा’ करें | आपकी सहेली


शीर्षक पढ़ कर शायद आप सोच रहे होंगे कि किसी को 'क्षमा' करके हम खुद कैसे 'खुश' रह सकते हैं? ‘खुश’ तो वो रहेगा जिसे 'क्षमादान' मिला हैं! नहीं दोस्तों... यहीं पर हम गलती कर बैठते हैं। हमें ग़लतफ़हमी हो जाती हैं कि यदि हमने बदला नहीं लिया तो यह दु:ख और क्रोध की भावना हमारे दिमाग में भारी विस्फोट कर देगी। इसी भ्रम के चलते हम कठोरता की सारी सीमाएं लाँघ जाते हैं और अपना सर्वस्व दूसरे लोगों को दुखी करने में लगा देते हैं। जिस ऊर्जा का उपयोग हम स्वयं का विकास करने में लगा सकते थे, वहीं ऊर्जा बदला लेने में खर्च हो जाती हैं। इससे हमारा स्वयं का विकास रुक जाता हैं।
हम एक ऐसे व्यक्ति के लिए अपना क़ीमती वक्त बर्बाद करते है, जो हमें पसंद नहीं करता एवं जिसे हम भी पसंद नही करते। वैसे भी दोस्तों, किसी से बदला लेने का आनंद दो-चार दिन ही रहेगा पर किसी को क्षमा करने का सुकून जिंदगी भर रहेगा। गौर करने वाली दूसरी बात यह हैं कि जिससे हम बदला ले रहे हैं वो भी हम पर जवाबी कार्रवाई करेगा और ये सिलसिला अनवरत शुरू रहेगा। आज भी न्यायालयों में हमारे दादा-पड़ दादाओं द्वारा दायर किए हुए ऐसे कई केसेस है, जिनसे आज की पीढ़ी को कोई लेना-देना नहीं हैं। लेकिन उनकी कीमती उर्जा अदालतों के चक्कर काटने में जाया हो रही हैं। हिंदी सिनेमा के कुछ कथानक बदले की भावना के इर्द-गिर्द ही घूमते हैं। इनमें एक डायलॉग बार-बार उपयोग किया जाता है, ''जब-तक मैं अपना बदला पूरा नहीं कर लेता/लेती, तब-तक मैं चैन से नहीं बैठूंगा/बैठूंगी!'' असल में दोस्तों, जब-तक कोई व्यक्ति बदले की आग में जलता रहेगा...तब-तक उसे चैन मिलेगा भी कैसे? इसलिए ही कहा जाता हैं,

<<< पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए 'आपकी सहेली' ब्लॉग पर जाएं >>>



ज्योति देहलीवाल जी एक गृहणी है और महाराष्ट्र में निवारसरत है। आप 2014 से ब्लॉग लिख रही है। उनके ब्लॉग पर विभिन्न विषयों से संबधित रोचक जानकारियां और सामाजिक व घरेलू टिप्स आदि ढ़ेरो जानकारीवर्द्धक लेखो की काफी लम्बी श्रृखला है। ज्योति जी से ई-मेल jyotidehliwal708@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है और उन्हे Facebook पर फालो कर सकते है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...