23 August, 2017

बहनों, ऋषि पंचमी का व्रत करने से पहले जरा सोचिए | ब्लॉग आपकी सहेली


क्या आप ऋषि पंचमी का व्रत करती हैं? यदि हां, तो व्रत करने से पहले यह लेख ज़रुर पढ़िए...! कोई भी व्रत करने के पिछे मुख्य कारण होता व्रत करने वाले इंसान के मन की श्रद्धा एवं आस्था और उस परिवार की आज तक वो व्रत करने की परिपाठी। वैज्ञानिक कारण जैसे शरीर स्वस्थ रहने के लिए भी व्रत किए जाते हैं लेकिन ज्यादातर व्रत पहले वाले कारणों से ही किए जाते हैं। हर व्रत की कहानी में वो व्रत क्यों करना चाहिए और उस व्रत के करने से क्या-क्या फ़ायदे होते हैं यह बतलाया जाता हैं। आज हम बात करेंगे ऋषि पंचमी के व्रत की।
ऋषि पंचमी के व्रत की दो-तीन कथाएं हैं। दोनों-तीनों कथाओं के अनुसार माहवारी के समय महिलाएं अपवित्र हो जाती हैं। इसलिए उन्हें धार्मिक कार्यों में भाग नहीं लेना चाहिए, रसोई घर में नहीं जाना चाहिए और घर के बर्तनों को एवं कपड़े आदि को भी हाथ नहीं लगना चाहिए। मतलब माहवारी के समय महिलाओं को अपने स्वयं के घर में अछुत बन कर रहना चाहिए। चाहे कितनी भी प्यास क्यों न लगी हो इस समय महिलाओं ने अपने हाथ से पानी लेकर नहीं पिना चाहिए। यदि माहवारी के समय इन नियमों का पालन करते वक्त अनजाने में उनसे कोई गलती हुई हो...तो ऋषी पंचमी का व्रत कर सप्तऋषि की पूजा करके महिलाएं उस दोष से या उस पाप से मुक्ति पा सकती हैं।
बहनों, जरा सोचिए...क्या सचमुच में माहवारी के समय हम अपवित्र हो जाती हैं? हम जब कोई गलत काम करते हैं तब उसका दोष या पाप हमें लगता हैं। माहवारी आने में हमने कौन सा गलत काम किया? उलट माहवारी के समय कई महिलाओं को कितने असहनीय दर्द से गुजरना पड़ता हैं, उस दर्द का एहसास सिर्फ़ वो महिला ही समझ सकती हैं। ये धर्म के ठेकेदार उस दर्द को नहीं समझ सकते! एक तो शारीरिक असहनीय तकलीफ़ और उपर से माहवारी में अछुत बन कर रहना और साथ ही में इस ग्लानी में जीना कि माहवारी आने से हम से कोई बहुत बड़ा पाप हो गया हैं! नारी के सहनशक्ति की यह इंतहा ही हैं। यदि हम महिलाओं का बस चले तो कोई भी महिला माहवारी से होना नहीं चाहेगी! सबसे दुखदाई बात यह हैं कि पढ़ी-लिखी महिलाएं भी इन बातों पर विश्वास करके अपनेआप को गुनहगार समझ कर यह पाप धोने के लिए ऋषी पंचमी का व्रत करती हैं!

<<< पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए 'आपकी सहेली' ब्लॉग पर जाएं >>>



ज्योति देहलीवाल जी एक गृहणी है और महाराष्ट्र में निवारसरत है। आप 2014 से ब्लॉग लिख रही है। उनके ब्लॉग पर विभिन्न विषयों से संबधित रोचक जानकारियां और सामाजिक व घरेलू टिप्स आदि ढ़ेरो जानकारीवर्द्धक लेखो की काफी लम्बी श्रृखला है। ज्योति जी से ई-मेल jyotidehliwal708@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है और उन्हे Facebook पर फालो कर सकते है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...