28 October, 2017

ओ माय गॉड...इस इक्किसवी सदी में भी किराए पर मिलती हैं बीवियां | आपकी सहेली


शीर्षक पढ़ कर चौंक गए न? भई मकान, गाड़ी, कपड़े किराए पर मिलते हैं। आजकल तो गहने भी किराए पर मिलते हैं। यहां तक तो ठीक हैं। लेकिन बीवियां किराए पर? क्या गाड़ी, मकान और कपड़ों की तरह बीवियां कोई चीज हैं जो देनेवाला किराए से देता हैं और लेने वाला लेता हैं? बीबी एक इंसान नहीं हैं? उसे भावनाएं नहीं हैं? हम कहते हैं कि आज नारी-पुरुष समानता का युग हैं? नारी सशक्तिकरण की बड़ी-बड़ी डिंगे हम हांकते हैं...इंसान मंगल पर जाने की तैयारी कर रहा हैं...ऐसे दौर में भी बीवियां किराए पर मिलती हैं और वो भी हमारे अपने देश में...सच में बात कुछ हजम नहीं होती हैं। लेकिन यह एक कड़वी सच्चाई हैं कि आज भी हमारे ‘शायनिंग़ इंडिया’ में बीवियां किराए पर मिलती हैं!!!
मध्यप्रदेश के शिवपुरी में ‘धड़ीचा प्रथा’ प्रचलित हैं‌। इस प्रथा अनुसार यहां हर साल एक मंडी लगाई जाती हैं जिसमे भेड़-बकरियां, गधे-घोडे नहीं लड़कियों को खड़ा किया जाता हैं। यहां हर साल पुरुष आते हैं और अपनी मनपसंद की लड़की को चुनकर उसकी किमत तय करते हैं। इन लड़कियों और महिलाओं की बोली 12,000 रुपए से लेकर 25,000 रुपए तक लगाई जाती हैं। किराए की राशी इस बात पर निर्भर करती हैं कि युवा महिला का परिवार कितना गरीब हैं और उसे पैसों की कितनी जरुरत हैं। इतना ही नहीं सौदेबाजी होने के बाद बाक़ायदा 10 रुपए से लेकर 100 रुपए के स्टाम्प पेपर पर लिखा पढ़ी करके शादी की मंज़ूरी दी जाती हैं। सौदे का समय पूरा होने के बाद महिला को दूसरे व्यक्ति को बेचा जाता हैं। मासिक आधार से लेकर सालाना के हिसाब से गरीब घरों की लड़कियों और महिलाओं की शादी उन अमीरजादों से कराई जाती हैं, जो अपने लिए पत्नियाँ नहीं ला सकते।

<<< पूरा लेख पढ़ने के लिए 'आपकी सहेली' ब्लॉग पर जाएं >>>



ज्योति देहलीवाल जी एक गृहणी है और महाराष्ट्र में निवारसरत है। आप 2014 से ब्लॉग लिख रही है। उनके ब्लॉग पर विभिन्न विषयों से संबधित रोचक जानकारियां और सामाजिक व घरेलू टिप्स आदि ढ़ेरो जानकारीवर्द्धक लेखो की काफी लम्बी श्रृखला है। ज्योति जी से ई-मेल jyotidehliwal708@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है और उन्हे Facebook पर फालो कर सकते है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...