15 November, 2017

नमक-गैर जरूरी भोजन, फायदे और नुकसान | ब्लॉग हिन्दी में सब कुछ


नमक हमारे भोजन का सबसे जरुरी अंग है। परम्परागत रूप से हम नमक का जरुरत से ज्यादा सेवन करते हैं, कुछ लोगों को तो ये भ्रान्ति भी है कि  नमक कम खाने की स्थिति में उन्हें कमजोरी आ सकती है। ‘
बिना नमक के भोजन असम्भव है’ इस तरह की धारणा प्रचलित है, इसी वजह से हमारा कोई भी भोजन (सिवा मिठाई के) नमक रहित होता है। हम प्राकृतिक रूप से स्वादिष्ट खाद्यों और विभिन्न सलाद और यहाँ तक कि फल  पर भी नमक  बुरक कर खाते हैं।
भोजन के साथ नमक का सेवन करने की वजह से हमारी किडनी को मूत्रनिर्माण की क्रिया के दौरान भारी मेहनत करनी पड़ती है। हमारे रक्त से नाइट्रोजन युक्त अवशिष्ट पदार्थ और पानी (ये दोनों मिलकर मूत्र बनाते हैं) को अलग करने के लिए किडनी की क्रियात्मक इकाई की नाजुक झिल्लियों पर दबाव पड़ता है.
भोजन में नमक की मात्रा अधिक होने से  मौजूद सोडियम और क्लोराइड के बार-बार  झिल्लियों के आर-पार गुजऱने से ये कमजोर हो जाती हैं। धीरे-धीरे इस प्रक्रिया से किडनी ही कमजोर होने लगती है,और फलस्वरूप किडनी fail या निष्क्रिय हो जाती है।
अधिक नमक की उपस्थिति हमारे शरीर में कैल्शियम  के शोषण को रोक देती है। सबसे बड़ी बात यह है कि नमक की अधिकता शरीर में बहुत से रोगों के उपजने का कारण  बनती है।

<<< पूरी रचना पढ़ने के लिए 'हिन्दी में सब कुछ' ब्लॉग पर जाएं >>>



कला श्री जी योगा, फिटनेस, घरेलू नुस्खे और सेहत आदि विषयो पर ब्लॉग लेखन करती है। उनके अनुसार जान है तो जहां है, जिसको ध्यान में रखते हुए आप सेहत से संबधित ही लेखन करती है।


यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें - iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।

No comments:
Write टिप्पणियाँ


Blog this Week

loading...