Blog Review - October 14, 2018

Blog of the Week में इस सप्ताह पढ़ें ब्लॉग ‘नमस्ते’

इस सप्ताह हम आपके लिए Blog of the Week में ब्लॉग ‘नमस्ते’ से रूबरू करायेंगे। इस ब्लॉग की स्थापना 2009 में मुम्बई से नूपुर शाण्डिल्य जी ने की है। ब्लॉग की कोई टैगलाइन नहीं है लेकिन ब्लॉग का टाईटल ही आपके आगमन पर आपका दिल से स्वागत करता है। नूपुर जी के ब्लॉग को पढ़कर आपको अहसास होगा कि इस ब्लॉग पर उन्होने काफी मेहनत की है।

नूपुर जी ने साहित्य जगत को ब्लॉग ‘नमस्ते’ के रूप में अपना अमूल्य योगदान दिया है जो काबिले तरीफ है। हमने कई ब्लॉगों को 1-2 वर्षो के बाद बंद होते देखा है लेकिन नूपुर जी लगन से 2009 से अब तक लगातार अपने ब्लॉग को जीवंत बनाएं हुए है।

कविताओं से भरपूर इस ब्लॉग में नूपुर जी ने हर विषय को समाहित करने का प्रयास किया है। रिश्ते हो या दोस्ती सभी कुछ उन्होने इस ब्लॉग में कविताओं के माध्यम से प्रस्तुत किया है। नूपुर जी की रचनाओं को पढ़कर हमें ऐसा लगा कि उन्होने न सिर्फ कविताएं लिखी है बल्कि किसी भी घटना का आंखों देखी वर्णन ही कर दिया हो।

पेश है आपके लिए नूपुर जी के ब्लॉग ‘नमस्ते’ से एक रचना-

आत्मबल

कब तक
माँ दुर्गा ही
महिषासुर मर्दन करेंगी?
कब तक
राजा राम ही
रावण से युद्ध करेंगे?

यदि महिषासुर
और दशानन
हमारे भीतर की ही
दशाएं हैं,
तो हम अपनी लड़ाई
खुद कब लड़ेंगे?

सामर्थ्य और
दायित्व बोध जो
प्रसाद में पाया हमने
कब उस आत्मबल से
स्वयं अपने
मन के क्लेश
हरेंगे हम?

यह रचना उन्होने 2 नवंबर 2017 को अपने ब्लॉग पर लिखी थी। जिस पर पाठकों ने भी पॉजिटिव Response दिया है।

नूपुर शाण्डिल्य जी के ब्लॉग पर विजिट करें : नमस्ते

Blog Overview

Blog

नमस्ते

Since

11 March 2009

Language

Hindi

Type

Poetry Blog

Total Post

Around 200 Post

Blogger

नूपुर शाण्डिल्य

Owner Mail

N/A

 

आपको कैसा लगा यह ब्लॉग हमें और उक्त ब्लॉग की संचालिका को जरूर बताएं। अब अगले सप्ताह आपसे नये ब्लॉग के साथ होगी। अगर आपके पास भी कोई ब्लॉग है हमें जरूर बताएं।

ViaBLOG NAMSTE


4 Comments

  1. पाठकों को नमस्ते के बारे में बताने के लिए हार्दिक आभार ।

    मेरे लिखे से
    जो कोई मुस्कुरा दे
    तो बात बन जाए

    मन का संवाद है कविता ।

    पढ़ कर बताइएगा क्या कमी है ?
    क्या कोई बात रह गई है ?

    सादर नमस्ते ।

    नूपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *