Bloggers Interview - 4 weeks ago

Interview with Blogger : हिमाचल प्रदेश से ब्लॉगर व कवि सुमन कपूर

इस बार हम हमारी मुलाकात Interview with Blogger में सुमन कपूर जी से हुई है। सुमन जी मिलनसार और सहयोगी प्रवृति की है, जब हमारी टीम ने उनसे संपर्क किया तो उन्होने बहुत ही शालीनता भरे शब्दों में हमारा स्वागत किया और हमें इस कॉलम के लिए हर संभव सहयोग प्रदान किया। आपके लिए पेश है उनके साथ हुए साक्षात्कार के मुख्य अंश-

iBlogger Team : सुमन जी, हम आपका परिचय आपके शब्दों में जानना चाहते है?
Suman Kapoor : अपने बारे में क्या कहूँ!! हिमाचल प्रदेश के शहर मंडी में अपनी माता जी के साथ रहती हूँ। पिता जी का वर्ष 2012 में निधन हो गया था। विज्ञान की छात्रा होते हुए भी हिंदी और साहित्य की तरफ रुझान था। मन के जज्बातों को कलम से पन्नों पर लिखने की कोशिश करती हूँ। ब्लॉग जगत से बहुत प्रोत्साहन मिला और यूँ ही कारवाँ चल पड़ा शब्द पथ पर। बस यही है मेरा परिचय बाकी एक कवि का परिचय उसकी कविता से बढ़कर और कौन दे सकता है भला!!

iBlogger Team : आपकी शिक्षा कहां से प्राप्त की है और कहां तक प्राप्त की है?
Suman Kapoor : मैं विज्ञान की छात्रा हूँ। मैंने BSc (Non-Medical) विज्ञान में स्नातक की शिक्षा राजकीय वल्लभ महाविद्यालय मंडी हिमाचल प्रदेश से की और उसके बाद M.Sc. (Mathematics) गणित में स्नातोकोत्तर हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से किया है। Bachelor in Education ( शिक्षा में स्नातक) जम्मू विश्वविध्यालय से की है।

iBlogger Team : सुमन जी, आप कब से ब्लॉगिंग कर रहीं है और आप ब्लॉगर कैसे बन गईं?
Suman Kapoor : पहले लेखन डायरी के पन्नों तक ही सीमित था दिसम्बर 2009 से ब्लॉग जगत में कदम रखा। जहाँ तक ब्लॉगर बनने का प्रश्न है तो मेरे एक परिचित हैं उन्होंने मुझे ब्लॉग के बारे में बताया था। मैं आज भी उनका शुक्रिया अदा करती हूँ अगर वो मुझे नहीं बताते और मदद नहीं करते तो शायद मेरे शब्द मुझ तक ही सिमटे रहते।

iBlogger Team : हमने आपके ब्लॉग का अवलोकन किया है, तो हमें दिखा कि आपके ब्लॉग पर विज्ञापन नहीं है। विज्ञापनों से अभी तक दूरी क्यों? जबकि आज तो विज्ञापन से ब्लॉगर कमाई कर रहें है?
Suman Kapoor : हां जी! आपने ठीक कहा, आजकल ब्लॉगिंग कमाई का साधन भी बन गई है। मैंने भी कुछ समय पहले एडसेंस में अकाउंट बनाया था परन्तु अप्रूव होने के बाद भी We’re working to setting you up ही दिखाता रहता है। पर सच कहूँ तो मैं इसमें ज्यादा Interested नहीं हूँ विज्ञापन के कारण ब्लॉग पर विज्ञापन ज्यादा हाईलाइट हो जाते और लिखा हुआ कम (ये मेरा Opinion है)।

iBlogger Team : सुमन जी, आपके ब्लॉगर पर कहानी, कविता और लेख के अलावा अन्य विधाओं में भी रचनाएं है, लेकिन आपकी पसंदीदा विधा कौन सी है जिसमें आप ज्यादा लिखती हैं?
Suman Kapoor : मैं ज्यादातर कविता ही लिखती हूँ।

iBlogger Team : कविता लिखने का विशेष कारण हमारे पाठकों को बताना चाहेंगीं?
Suman Kapoor : कारण तो कुछ नहीं बस मन से जो भाव निकलते हैं पन्नों पर उतर जाते हैं।

iBlogger Team : सुमन जी, आप दो ब्लॉगों का संचालन कर रहीं है, दोनों ब्लॉगो के बारे में कुछ बताएं।
Suman Kapoor : दिसम्बर 2009 में पहला ब्लॉग “बावरा मन” और उसके बाद दूसरा ब्लॉग “अर्पित सुमन” शुरू किया। ब्लॉग बावरा मन कविताओं का ब्लॉग है इसके साथ ही इसमें ‘शब्द से ख़ामोशी तक – अनकहा मन का’ विचारों की एक श्रृंखला भी है। मैं कहानी कम ही लिखती हूँ जो लिखी हैं इस ब्लॉग में प्रकाशित हैं। दूसरा ब्लॉग ‘अर्पित सुमन’ मुक्तक, शेर, लघु कविता से सजी सुमन की बगिया है 😊।

iBlogger Team : आपका सबसे पसंदीदा ब्लॉग और ब्लॉगर कौन से है, जिसे आप पढ़ती और फॉलो करती है? ध्यान रहे सिर्फ एक ही बताइएगा।
Suman Kapoor : मेरे पसंदीदा ब्लॉग हथकढ़ (http://hathkadh.blogspot.com) और ब्लॉगर श्री किशोर चौधरी (ये बहुत ही बेहतरीन कहानीकार और कवि ) है।

iBlogger Team : आप वर्तमान में ब्लॉगिंग के अलावा क्या कर रहीं है?
Suman Kapoor : आजकल ग्रामीण विकास विभाग में Accountant के पद पर कार्यरत हूँ और कुछ Exams की तैयारी कर रही हूँ।

iBlogger Team : हमने आपके ब्लॉग पर विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित रचनाओं की कटिंग देखी है, उनके बारे में कुछ बताएं।
Suman Kapoor : मुझे ब्लॉग जगत और सोशल मिडिया Facebook से बहुत प्रोत्साहन मिला। आपका लिखा लोगों द्वारा सराहा जाये और उसे अपनी पत्रिकाओं और समाचार पत्र में जगह दी जाये तो लिखा सार्थक हो जाता है। वटवृक्ष, समसामयिक सृजन, सृजनलोक , नव्या, सृजक, अभिनव इमरोज, उत्पल आदि पत्रिकाओं और पत्रिका, अमर उजाला, डेली न्यूज़ राजस्थान समाचार पत्र में प्रकाशन इसी प्रोत्साहन की देन हैं।

iBlogger Team : आपके तीन साझा काव्य संग्रह प्रकाशित हुए है, क्या आप हमें उनके बारे में बताना चाहेंगी?
Suman Kapoor : हां जी जरुर। इसमें सबसे पहले मैं बोधि प्रकाशन के श्री माया मृग सर का धन्यवाद करना चाहूंगी जिन्होंने फेसबुक के रचनाकारों के साझा काव्य संग्रह ‘स्त्री होकर सवाल करती है’ में मुझे स्थान दिया। दूसरा‘माँ की पुकार’ और तीसरा हिन्द युग्म द्वारा प्रकाशित ‘100 कदम’ साझा काव्य संग्रह हैं। उसके बाद हिमाचल प्रदेश शिमला के ब्लॉगर व शिक्षक श्री रोशन लाल’विक्षिप्त’ का उनके साझा काव्य संकलन में मेरी कविताओं को लेने के लिए फ़ोन आया और इस तरह चौथा साझा काव्य संग्रह ‘अम्मा कहती थी’ प्रकाशित हुआ।

iBlogger Team : क्या आपकी ब्लॉगिंग या लेखन को लेकर भविष्य की कोई योजना है?
Suman Kapoor : मैं ब्लॉगिंग और लेखन योजनाबद्व तरीके से नहीं करती, ना ही करना चाहूंगी। हाँ! बहुत सी अप्रकाशित कवितायेँ मेरी डायरी के पन्नों में हैं जिनका भविष्य में एकल प्रकाशन जरुर करूंगी।

iBlogger Team : आपको ब्लॉगिंग करते हुए लगभग 8 वर्ष हो गये है, कई ब्लॉगर 1-2 वर्षो में ही ऊब जाते है, क्या आप नहीं….?
Suman Kapoor : नहीं मैं कभी नहीं उब सकती। अपने मन के शब्दों से तो कभी नहीं जो मेरी सृजनशीलता का आधार हैं और ब्लॉग उन शब्दों का भ्रमण क्षेत्र जो उनको उबने नहीं देता 😊।

iBlogger Team : आप अपने ब्लॉग की रचनाओं को लिखने के लिए प्रेरणा कहां से प्राप्त करतीं है?
Suman Kapoor : कुछ भी लिखने के लिए भाव प्रधान होता है। कुछ भी जो घटित होता है अपने आस-पास, किसी के साथ वही आत्मसात हो पन्नों पर उतर आता है।

iBlogger Team : ब्लॉगिंग का लगभग 8 वर्षो का सफर का अनुभव कैसा रहा?
Suman Kapoor : बहुत अच्छा। बहुत अच्छे लोग मिले। आज भी ब्लॉग से सम्बन्धित कुछ समस्या हो तो सभी मदद करते हैं और सबसे ज्यादा ख़ुशी तो तब मिलती है जब फ़ोन करने पर लोग आपको फट से पहचान लेते हैं। ( हेल्लो, कौन ? सुमन ! हिमाचल की ब्लॉगर 😊)

iBlogger Team : नये ब्लॉगरों के लिए आप क्या कहना चाहेंगी?
Suman Kapoor : नए ब्लॉगरों को बस यही कहना चाहूंगी कि ब्लॉग जगत में आपका स्वागत है। लिखते रहिये पर दूसरों को भी पढ़ते रहिये।

iBlogger Team : ऐसी कोई जानकारी देना चाहेंगे, जो हमसे छूट गई हो और जो आपको लगता है कि हमारे पाठकों को जरूर जानना चाहिए?
Suman Kapoor : मैं बस यही कहना चाहूंगी कि ब्लॉग अपने लेखन या अपनी प्रतिभा को पाठकों तक पहुँचाने का बहुत अच्छा मंच है इसलिए अगर आपके आस पास कोई ऐसा इन्सान है जो प्रतिभा संपन है उन्हे ब्लॉग और इन्टरनेट के बारे में बताईये ताकि उनकी सीमित प्रतिभा को असीमित आकाश मिल सके।

iBlogger Team : अंत में एक सवाल, हमारे इस कॉलम पर आपके क्या विचार है और हमारे पाठकों को आप क्या संदेश देना चाहेंगी?
Suman Kapoor : iBlogger Team द्वारा ब्लॉगरों के बारे में जानकारी देने की जो शुरुआत की गई है वो बहुत प्रशंसनीय है। इससे जहाँ हम ब्लोगर्स को एक दूसरे के बारे में जानने का मौका मिलेगा वहीं अलग अलग विधाओं में लिखने के कारण बहुत कुछ सिखने को भी मिलेगा। मेरी इस मुलाकात को रुचिकर बनाने के लिए शुक्रिया।

सुमन कपूर जी के ब्लॉग का लिंक : बावरा मन

आपको कैसा लगा कॉलम Interview with Blogger में सुमन कपूर जी से मिलकर अपनी राय जरूर दें। यदि आप अपना या अपने मित्र ब्लॉगर का साक्षात्कार iBlogger में प्रकाशित कराना चाहते है तो हमें उनका ई-मेल पता व ब्लॉग का पता मेल iblogger.in@gmail.com करें। हम उनके ब्लॉग का अवलोकन कर जल्द ही संपर्क करेंगे।



6 Comments

  1. किसी भी वेप साइट के वेप पते पर “http:” और “https:” लिखा होता है तो इस अंतर को सममझाने की कृपा करे ।। दूसरा मेरा ब्लॉग पता व प्रोफाइल फोटो नजर नही आ रहा है मेरा पता है https:// http://www.kavibhyankar.blogger.com इसमे पहले http ही लगाया हुआ था तो काफी समय तक दिखता था मगर कुछ समय से नही दिख रहा है तो मैने https:// लगाया हुआ है अभी भ गूगल पर नजर नही आ रहा है तो मुझे क्या करना चाहिये हिन्दी मे समझाये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *