Articles - July 30, 2018

iBlogger ने Blogspot को अलविदा कहा

हमारी टीम को आज का दिन बेहद अजीब लग रहा है, ऐसा लग रहा है जैसे हमसे कोई सखा बिछड़ गया हो, क्योंकि आज हमने पूरी तरह से Blogspot को अलविदा कह दिया है। लगभग एक माह से चल रहा Blogspot से WordPress पर माईग्रेशन का कार्य आज जाकर समाप्त हुआ है।

अक्टूबर 2015 का दिन था, जिस दिन iBlogger की स्थापना कुछ अलग करने के मकसद से की गई थी। तब इसे Blogspot पर शुरू किया गया था। लगभग तीन वर्ष पूरे होने को है, इतने समय में हमारे साथ कई ब्लॉगर जुड़े और बिछड़े भी। iBlogger ने कई ब्लॉगरों को एक मंच भी उपलब्ध कराया और कई ब्लॉगरों को एक पहचान भी दी। iBlogger टीम की शुरू से ही ब्लॉगरों को मंच उपलब्ध कराना रहा है और भविष्य में भी हमारा उद्देश्य सही रहेगा।

आपको बताते चले कि iBlogger की इस कार्यशैली की वजह से iBlogger के Adsense अकाउंट को भी Google ने बंद कर दिया था, क्योंकि हम ब्लॉगों की पोस्ट से शुरू के Paragraph को लेकर उनके ब्लॉग के लिंक के साथ प्रकाशित करते है, ताकि उन्हें वास्तविक Credit मिल सके। हमने फिर कभी दुबारा Apply भी नहीं किया और न हमने अपनी कार्यशैली में बदलाव किया। हम iBlogger के उद्देश्य से भटकना नहीं चाहते थे।

हम आपसे अपेक्षा करते है कि आज जरूर बतायें कि आपको iBlogger का अब तक का साथ कैसा लगा और भविष्य में हम इसे बेहतर कैसे बना सकते है, अपने कमेंट के माध्यम से जरूर अवगत करायें।


11 Comments

  1. ब्लॉगरों के लिए आपका प्रशंसनीय प्रयास है।

  2. aap sabhi bloggero ke utsah wardhan ke liye prasansa ke paatr hai , meri taraf se aapki puri team ko tahe dil se shukriya.

  3. ब्लॉगरों के लिए आपका प्रशंसनीय प्रयास है। ब्लॉग के माध्यम से लेखको के विचार प्रेषित करने का आपने एक अच्छा मंच प्रदान किया सुंदर रूप मे आप ब्लॉग प्रकाशित करते है मेरा एक ब्लॉग पहला ही प्रकाशन के बाद मुझे मेल के द्वारा सूचना आप द्वारा भेजी गयी जब एक सुखद अनुभूति हुई की मुझे अपने विचारो को प्रेषित करने का अच्छा मंच उपलब्ध हुआ है बहुत बहुत आभार

    1. उत्तम जैन जी, हमे खुशी है कि आपको हमारा प्रयास पसंद आया। जिसके लिए हम आपका धन्यवाद करते है।

  4. iblogger इंडिया के Bloggers को एक पहचान दे रहा है और जैसा आपका उद्देश्य है वह काबिलेतारीफ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *