Literature - September 7, 2017

खिलने दो मासूम कलियों को | ब्लॉग ऊंचाईयाँ

शाम के आठ बजते ही घर में सब शान्त हो जाते थे।
एक दिन न जाने भाई-बहन में किस बात पर बहस छिड़ गयी थी, बच्चों की माँ चिल्ला रही थी दोनों इतने बड़े हो गये हैं फिर भी छोटी-छोटी बातों पर लड़ते रहते हैं।
माँ अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही थी कि बच्चों की बहस खत्म हो, माँ बच्चों के पास बैठी बोली तुम्हारे पापा और दादा जी आने वाले हैं और तुम्हें पता है कि उन्हें बिल्कुल भी शोर पसन्द नहीं है, वैसे ही दोनों दिन भर के थके हुए होते हैं।
बेटी, सान्या दस साल की और बेटा सौरभ पन्द्रह साल का, लेकिन भाई-बहन की लड़ाई में कौन छोटा कौन बड़ा दोनों अपने को बड़ा समझते हैं, चलो किसी तरह शांति हुई।
माँ बोली आज साढ़े आठ बज गये हैं, आज तुम्हारे दादा जी और पापा को देर हो गयी है, अब तुम दोनों शांति से बैठे रहना, वरना सारा गुस्सा तुम दोनों पर ही निकलेगा।
इतने मे डोर बेल बजी, दादा जी और पापाजी हाथ-मुँह धो कहना खाने बैठ गये, माँ एक सेकंड भी देर नहीं करती थी दोनों को खाना परोसने में, क्योंकि माँ वो दिन कभी नहीं भूलती थी, जब एक दिन खाना देर से परोसने पर माँ को दादा जी से बहुत फटकार पड़ी थी और दादा जी ने उस दिन खाना भी नहीं खाया था और माँ को बहुत बड़ा लेक्चर दिया था कि बहू समय की क़ीमत समझो, अपने बच्चों को कल क्या सिखाओगी, वगैरा-वगैरा…..।
रात को भोजन हो गया था, दादा जी और पापा जी रोज की तरह आज भी दिन-भर क्या कमाया, किसका कितना लेन-देन है बात-चीत करने लगे। इधर बच्चे अपना-अपना स्कूल का बैग लेकर बैठ गये और पढ़ने लगे, पर बच्चे तो बच्चे ठहरे, थोड़ा पढ़ना, ज्यादा मस्ती, ना जाने किस बात पर दोनों भाई-बहन हँसने लगे, पापा ने आवाज लगायी, पढ़ाई में मन लगाओ, बच्चे चुप होकर पढ़ने लगे।
आधा घंटा बीत गया था, भाई बोला मेरा काम हो गया, बहन बोली मेरा भी होने वाला है, वो जल्दी-जल्दी लिखने लगी।
भाई खाली बैठा था, खाली दिमाग शैतान का दिमाग….।

<<< पूरी रचना पढ़ने के लिए ‘ऊंचाईयां’ ब्लॉग पर जाएं >>>

 


श्रीमती रितु आसूजा जी सन 2013 से ब्लॉग लिख रहीं है और तब से लेकर अब तक प्रेरक और समाजिक लेखन के जरिए ब्लॉग जगत में अपनी अलग पहचान बनाए हुए है। उनसे ई-मेल ritu.asooja1@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है। रितु जी काे फेसबुक पर फालों करने के लिए यहां क्लिक करें।

यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें – iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *