Literature - January 11, 2017

पुरानी कहानियां नये अंदाज में | आपकी सहेली

दोस्तो, कुछ कहानियां ऐसी होती है, जो लगभग हर व्यक्ति की सूनी या पढ़ी हुई होती है। जैसे बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा वाली कहानी या प्यासे कौए की कहानी। सदियों से इंसान इन कहानियों को अपनी अगली पिढ़ी को सुना रहा है। लेकिन कितना अच्छा हो यदि ये कहानियां हमें आज के समय के आधुनिक अंदाज में पढ़ने मिलें! तो आइए, मजा लीजिए… “बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा?” एवं “प्यासा कौआ”… वहीं पुरानी कहानियां…आधुनिक अंदाज में पढ़ने का।

कहानी: बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा?

हमें यह कहानी पता है कि बिल्ली से परेशान चुहों ने अपनी जान बचाने के लिए बिल्ली के गले में घंटी बांधने की योजना बनाई थी। लेकिन आजतक वे इस योजना नें सफल नहीं हो पाएं। लेकिन अब इक्किसवी सदी की हवा चुहों को भी लग गई। चुहों के बच्चों ने इस पर आपातकालिन बैठक बुलाई। सभी ने इस पर गहरा विचारमंथन किया। पहले तो इंसानों की तरह… समस्या के समाधान के पुराने तरीके पर खुब विचार किया गया। लेकिन जैसा की अकसर इंसानों की सभा में होता है बिल्ली के गले में घंटी बांधने की समस्या का भी पुराने तरीके से कोई समाधान नहीं निकल पा रहा था। तब एक चुहे के बच्चे ने समाधान पेश करने की पेशकश की। लेकिन बड़े-बुजुर्ग चुहों ने उसका यह कहकर विरोध किया कि हम सदियों से इस समस्या का समाधान नहीं खोज पाएं, तो तू आज का छोटा सा बच्चा क्या कर लेगा? आखिरकार तुझे ज्ञान ही कितना है? वो मायुस होकर चूप बैठने ही वाला था कि चुहे के सरदार ने कहा, “एक बार इस बच्चे की भी सुन लेते है…क्या पता सही में कोई समाधान निकल आएं। यदि समाधान न भी निकला, तो भी हमें यह तो समाधान रहेगा कि हमने हमारे बच्चे की बात सुनी! ज्यादा से ज्यादा क्या होगा हमारे दो मिनट ही तो बर्बाद होंगे।” तब जाकर उस चुहे के बच्चे को अपनी बात रखने की अनुमती दी गई।

 

<<< पूरी कहानी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें >>>

 


ज्योति देहलीवाल जी एक गृहणी है और महाराष्ट्र में निवारसरत है। आप 2014 से ब्लॉग लिख रही है। उनके ब्लॉग पर विभिन्न विषयों से संबधित रोचक जानकारियां और सामाजिक व घरेलू टिप्स आदि ढ़ेरो जानकारीवर्द्धक लेखो की काफी लम्बी श्रृखला है। ज्योति जी से ई-मेल jyotidehliwal708@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है और उन्हे Facebook पर फालो कर सकते है।

यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें – iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *