Poem - July 15, 2017

भीख माँगती छोटी सी लड़की | ब्लॉग नई सोच

जूस (fruit juice) की दुकान पर,

एक छोटी सी लड़की…
एक हाथ से,  अपने से बड़े,
फटे-पुराने,मैले-कुचैले
कपड़े सम्भालती…..
एक हाथ आगे फैलाकर सहमी-सहमी सी,
सबसे भीख माँगती….
वह छोटी सी लड़की उस दुकान पर
हाथ फैलाए भीख माँगती….
आँखों में शर्मिंदगी,सकुचाहट लिए,
चेहरे पर उदासी ओढे….
ललचाई नजर से हमउम्र बच्चों को
सर से पैर तक निहारती….
वह छोटी सी लड़की, खिसियाती सी,
सबसे भीख माँगती…….

 

<<< पूरी रचना पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें >>>

 


सुधा देवरानी जी 2016 से ब्लॉगिग कर रहें है और अपनी कविताओं को नई सोच ब्लॉग के माध्यम से पाठको के बीच रख रहीं है। ब्लॉगर सुधा जी से ई-मेल sdevrani16@gmail.com पर स्म्पर्क किया जा सकता है।

यदि आप भी अपनी ब्लॉग पोस्ट को अधिक से अधिक पाठकों तक पहुंचाना चाहते है। तो अपने ब्लॉग की नई पोस्ट की जानकारी या सूचना हमें दें। अपनी ब्लॉग की पोस्ट शेयर करने के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट का यूआरएल और अपने बारे में संक्षिप्त जानकारी एवं फोटो सहित हमें – iblogger.in@gmail.com पर ई-मेल करें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *